Wednesday, May 27, 2015

How to Start Career in Mobile Banking Read in Hindi

How to Start Career in Mobile Banking Read in Hindi
How to Start Career in Mobile Banking Read in Hindi
शहरों या मेट्रो सिटीज में रहने वाले ज्यादातर कस्टमर्स आज तमाम तरह के बिल चुकाने सें लेकर टिकिट की बुकिंग, फंड ट्रांसफर, मोबाइल फोन रिचार्ज या बैंक अकाउंट खोलने के लिए मोबाइल फोन या इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने लगे हैं। 2014 में मोबाइल बैंकिंग की सेवा लेने वाले एसबीआई कस्टमर की संख्या 85.7 लाख से बढ़कर 1.25 करोड़ हो गई। प्राइवेट सेक्टर में एचडीएफसी और आईसीआईसीआई बैंक का मोबाइल बैंकिंग स्पेस में दबदबा है।  रिजर्व  बैंक ऑफ़ इंडिया के अनुसार, मोबाइल बैंकिंग से बैंक और कस्टमर दोनों को फ़ायदा है क्यूंकि इसमें ब्रांच बैंकिंग का 2 प्रतिशत, एटीएम का 50 प्रतिशत और इंटरनेट बैंकिंग का सिर्फ 50 प्रतिशत खर्च अत है।
" मोबाइल बैंकिंग का विस्तार होने से न केवल बैंकों और ग्राहकों को सुविधा हो रही है, बल्कि इस क्षेत्र में कई जॉब्स का भी सृजन हो रहा है। "
मिनटों में निकलेगा सोल्युशन

बैंकों में डिजिटल टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से मैनपावर की प्लानिंग तथा सही जगह पर सही प्रोफेशनल की प्लेसमेंट में मदद मिलेगी। साथ ही, परफॉर्मेंस मैनजमेंट में पारदर्शिता आएगी। कस्टमर सर्विस में व्यापक सुधार आएगा। इस समय बैंकिंग सिस्टम के कॉल सेंटर ऑनलाइन कस्टमर्स की पूरी मदद करते हैं। कस्टमर केयर का नंबर डायल करते ही, आपकी बात फोन बैंकिंग ऑफिसर से होती है और मिनटों में समस्या का समाधान निकल अत है।

न्यू जॉब क्रिएशन

सबसे बड़ी बात, डिजिटाइजेशन की बजह से बैंकों में वेब डिज़ाइनरस, टेक्निकल फर्म्स, फाइनेंशियल वेबसाइटस, स्पेशलाइज्ड वेब एनालिटिक्स फर्म्स, ई-कॉमर्स प्लैटफ्रॉम और ऑनलाइन मर्चेन्ट की जरुरत लगातार बढ़ रही है। अपनी डिजिटल सेल बढ़ाने के लिए बैंक अपनी डेडिकेटेड टीम बना रही हैं।

source:naidunia