সমস্ত সরকারি যোজনার সম্মন্ধে নতুন তথ্য জানার জন্য এখনি আমাদের YOUTUBE চ্যানেল SUBSCRIBE করুন। পাবেন বাংলা ও পশ্চিমবঙ্গের যোজনার এর নতুন খবর। বাংলা ভূমী ইউটিউব চ্যানেল ▶

6 Impotent Rules of Successful Career Read in Hindi

सफलता की रह के रूल्स
6 Impotent Rules of Successful Career Read in Hindi
6 Impotent Rules of Successful Career Read in Hindi
आज देश और दुनिया के आर्थिक एवं ओद्योगिक मोर्चे पर जो परिद्रिश्य है, उसे देखते हुए हम कह सकते हैं की आने वाले अवसरों का लाभ उठाने के लिए पर्सनैलिटी और स्किल्स से जुडी कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरुरी है। एक नजर डालते हैं इन्हीं जरुरी बातों पर.....।

1. सीखें बीते दिनों से

अगर आप जागरूक व्यक्ति हैं और समय-समय पर अपनी कमियों-कमजोरियों एवं ताकत का आकलन करते रहते हैं, कोई और समझे या न समझे, आपको जरूर इस बात का एहसास होगा की बीते दिनों में आप कहां-कहां कमज़ोर पड़े, चुके या आपको अपने कदम पीछे खीचने पड़े ? आपके प्यासों में चूक कहां हुई या फिर अपने प्रयासों में पूरी ईमानदारी दिखाई या नहीं ? इन बातों का विशलेषण करके आप आगे की अपनी रह को चमकदार बना सकते हैं। हां, अगर आपको लगता है की मैंने तो खूब मेहनत की पर उपलब्धि ज़ीरो रही, तो इसका मतलब यही है की आप रेस में शामिल हुए पर विपरीत नतीजा आने पर अपने उसका समुचित मूल्यांकन नहीं किया। वैसे यह भी हो सकता है की अपने वाकई मेहनत तो बहुत की हो, पर वह आपकी रूचि का क्षेत्र न रहा हो।

2. चुनें मन की रह

कामयाबी की डगर पर बढ़ते हुए अपनी अलग पहचान बनाना चाहते हैं, तो आपको वह रह चुननी होगी, जो आपके मन की हो। दूसरों को देखकर कोई स्ट्रीम या क्षेत्र चुनते हैं, तो शायद कड़ी मेहनत के बाद भी आपको अपेक्षित सफलता न मिले। अगर आप अपनी पसंद के क्षेत्र को चुनेंगे, तो आपके हर कदम में उत्साह रहेगा।  आप उसमे डूबना चाहेंगे और जितना डूबेंगे, उतना ही आनंद आएगा।  आज ऐसे अनेक विकल्प हैं, जो आपकी पसंद बन सकते हैं। यह कटाई न सोचें की किसी नए क्षेत्र में कैसे आगे बढ़ेंगे।

3. सलाह लें

एक बार अपनी पसंद के क्षेत्र चुन लेने के बाद उससे जुड़ी बुनियादी बातों को जानकर कदम बढ़ाएं। घर-परिवार से सही परामर्श मिल सकता है, तो बहुत अच्छा, अन्यथा अपने स्कूल-कॉलेज के किसी टीचर या कॉउंसलर की मदद लें। उससे अपने मन की उलझने बांटें और आगे बढ़ने का रास्ता जानें। देश और दुनिया के बदलाव पर नज़र रखते हुए आगे बढ़ें।

4. परफेक्शन को बनाएं आदत

काम, प्रोजेक्ट या मिशन को निपटाने के बजाय उसे पुरे परफेक्शन के साथ करने का प्रयास करें।  परफेक्शन को अपनी आदत बना लें, यानी जब तक किसी काम को स्पीड और एक्युरिसी के साथ न कर लें, तब तक चैन न लें।

5. सीखे स्किल्स 

आने वाले दिनों में, ' मेक इन इंडिया ' से जुड़े तकरीवन दो दर्जन क्षेत्रों में संभावनाएं तेजी से सामने आएंगी। इन्हें ध्यान में रखते हुए अपनी पसंद का चयन करें। पसंद के क्षेत्र में आवश्यक स्किल को सिखने की जरुरत महसूस हो रही है, तो उसके लिए देर न करें।  सही जगह से अपनी स्किल्स को डेवलप करें। सीखनें के बाद उसे छोड़ें, भूलें नहीं, बल्कि इंडस्ट्री-मार्केट की जरूरतों के मुताबिक उसे अपडेट करते रहें ताकि आप वक़्त के साथ चलते हुए आगे बढ़ सकें।

6. स्मार्टनेस भी जरुरी 

स्किल्स डेवलप करने के साथ साथ पर्सनैलिटी और कम्युनिकेशन की स्मार्टनेस का भी ख्याल रखें। खुद को प्रेजेंटेबले बनाएं, ताकि अपने टैलेंट को प्रभावशाली तरीके से सामने रख सकें।  इसके लिए आपको कहने-बोलने का सरल सहज और प्रभावी तरीका भी सीखना होगा। हां, व्यक्तित्व , पोशाक, बातचीत और विचारों में मौलिकता का ध्यान रखें। बनावटीपन से बचें। कुछ भी नया सिखने, जानने और करने को हमेशा तत्पर रहें।

source:naidunia